धूसखोरी के मामलें में एन बी सी सी के डी जी एम एवं निजी कम्पनी के निदेशक को गिरफ्तार किया

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 12.03.2020

सी बी आई ने धूसखोरी के मामले में एन बी सी सी लिमिटेड, उदयपुर (त्रिपुरा) के उप महाप्रबन्धक तथा शिलॉंग की निजी कम्पनी के एक निदेशक को गिरफ्तार किया।

त्रिपुरा मे विशेष रुप से पी एम जी एस वाई (PMGSY) के तहत सड़कों के निर्माण कार्य के लिए पैमाइस की पुस्तकों (Measurement books) को तैयार करने, परिचालित बिलों (Running bills) पर कार्रवाई करने, बिलों के विरुद्ध भुगतान को शीघ्र जारी करने में पक्षपात दर्शाने के लिए उक्त निजी व्यापारी से नियमित रुप से अवैध रिश्वत की मॉग के आरोप पर एन बी सी सी लिमिटेड उदयपुर (त्रिपुरा) के उप महाप्रबन्धक तथा शिलांग (मेघालय) स्थित निजी कम्पनी के निदेशक के विरुद्ध भारतीय दण्ड संहिता की धारा 120-बी एवं भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम (वर्ष 2018 में यथासंशोधित) की धारा 7 के तहत एक मामला दर्ज हुआ। एन बी सी सी के द्वारा एक निजी कम्पनी को कार्य का आवंटन हुआ था और उक्त लोक सेवक के द्वारा निरीक्षण किया जा रहा था।

सी बी आई ने जाल बिछाया एवं डी जी एम, (एन बी सी सी)) को पकड़ा, जिसके पास उक्त निजी कम्पनी के अन्य आरोपी के द्वारा उसे दी गई 2.30 लाख रु. की अवैध रिश्वत थी। अन्य आरोपी (निजी व्यक्ति) को भी गिरफ्तार किया गया। दोनो आरोपियों के परिसरों क्रमशः उदयपुर (त्रिपुरा), अगरतला एवं शिलांग में तलाशी ली गई जिसमें विभिन्न अन्य आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद हुए। पनवेल (महाराष्ट्र) स्थित लोक सेवक एवं अगरतला स्थित उसके एक सहयोगी के पैतृक स्थान पर भी तलाशी जारी है।

गिरफ्तार आरोपियों को शिलांग की सक्षम अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा।

********