श्री नीडो तानिया की मृत्‍यु से सम्‍बन्धित मामले में चार आरोपियों को तीन से 10 वर्ष की कठोर कारावास

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 06.09.2019

अपर सत्र न्‍यायाधीश साकेत कोर्ट, नई दिल्‍ली ने अरूणाचल प्रदेश के निवासी श्री नीडो तानिया की मृत्‍यु से सम्‍बन्धित मामले में चार आरोपियों यथा फरमान को 20,000 रू. के जुर्माने सहित 10 वर्ष की कठोर कारावास; पवन को 20,000 रू. के जुर्माने सहित 07 वर्ष की कठोर कारावास; सुन्‍दर को 20,000 रू. के जुर्माने सहित 07 वर्ष की कठोर कारावास एवं सन्‍नी उप्‍पल को 20,000 रू. के जुर्माने सहित 03 वर्ष की कठोर कारावास की सजा सुनाई।

सीबीआई ने भारत सरकार के दिनांक 21.02.2014 के आदेश पर 28 फरवरी, 2014 को मामला दर्ज किया एवं दिल्‍ली पुलिस के द्वारा पूर्व में दर्ज मामले की जॉंच को अपने हाथों में लिया। ऐसा आरोप था कि अरूणाचल प्रदेश के विधायक के पुत्र श्री नीडो तानिया पर एक छोटी सी बात पर लाजपत नगर, दिल्‍ली में व्‍यक्तियों के समूह द्वारा दिनांक 29.01.2014 को हमला किया गया एवं दिनांक 30.01.2014 को अपनी चोटों के कारण उनकी मृत्‍यु हो गई। जॉंच से पता चला कि‍ श्री नीडो तानिया कथित रूप से अपने तीन मित्रों के साथ लाजपत नगर गए थे और लाजपत नगर में अपने अन्‍य मित्र के घर के रास्‍ते की जानकारी कुछ व्‍यक्तियों से पूँछी। वे पनीर की दुकान पर गए जहॉं उन्‍होने अपने मित्र के घर की दिशा पूँछी, लेकिन आरोपी व्‍यक्तियों के द्वारा उन्‍हें अपमानित किया गया और उन पर हंसे। ऐसा आगे आरोप है कि श्री नीडो तानिया, जिन पर शारीरिक रूप से हमला भी हुआ, जिसके परिणाम स्‍वरूप वे दिनांक 30.01.2014 को अपनी चोटों के कारण मृत पाये गये।

गहन जॉंच के पश्‍चात, ऐसा ज्ञात हुआ कि श्री नीडो तानिया पर हमले में तीन किशोर सहित 07 व्‍यक्ति शामिल थे। चार आरोपियों के विरूद्ध दिल्‍ली की नामित अदालत में आरोप पत्र दायर किया गया। तीन किशोरवय के विरूद्ध किशोर न्‍याय बोर्ड, किंग्‍सवे कैम्‍प दिल्‍ली के समक्ष एक रिपोर्ट भी दर्ज की गई।

विचारण अदालत, दिल्‍ली ने उक्‍त चार आरोपी व्‍यक्तियों को कसूरवार पाया एवं उन्‍हे दोषी ठहराया

********