सीबीआई ने बलात्‍कार एवं आपराधिक धमकी के आरोपो पर आध्‍यात्मिक विश्‍व विद्यालय के तत्‍कालीन प्रमुख के विरूद्ध आरोप पत्र दायर किया

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 13.06.2019

सीबीआई ने आध्‍यात्मिक विश्‍व विद्यालय, विजय विहार फेज-।, रोहिणी, दिल्‍ली के तत्‍कालीन प्रमुख के विरूद्ध भारतीय दण्‍ड संहिता की धारा 376 (2) (एफ), (आई), (के), (एन) तथा 506 के तहत दिल्‍ली की नामित अदालत के समक्ष आरोप पत्र दायर किया।

सीबीआई ने सिविल याचिका संख्‍या 11382/2017 में दिल्‍ली उच्‍च न्‍यायालय के दिनांक 20.12.2017 के आदेश पर दिनांक 03.01.2018 को मामला दर्ज किया एवं इस मामले कि शिकायतकर्ता से बलात्‍कार एवं आपराधिक धमकी की घटनाओं के आरोप पर पुलिस स्‍टेशन, विजय विहार, रोहिणी, दिल्‍ली में दिनांक 12.11.2017 को पूर्व में दर्ज मामले की जॉंच को अपने हाथों में लिया।

ऐसा आरोप था कि आरोपी, आश्रम का प्रमुख रहते हुए, मई/ जून, 1999 के दौरान कम्पिल (उत्‍तर प्रदेश) एवं विजय विहार, दिल्‍ली स्थित दो अलग-अलग आश्रमों में आध्‍यात्मिक गुरू ने शिकायतकर्ता की इच्‍छा के विरूद्ध नाबालिग का बलात्‍कार किया। ऐसा भी आरोप था कि आरोपी ने पीडि़ता को धमकी दी व उनके पारिवारिक सदस्‍यों को जान से मारने की धमकी दिया।

गहन जॉंच के पश्‍चात, आरोपी के विरूद्ध आरोप पत्र दायर हुआ।

जनमानस को याद रहे कि उपरोक्‍त विवरण सीबीआई द्धारा की गयी जॉंच व इसके द्धारा एकत्र किये गये तथ्‍यों पर आधरित है। भारतीय कानून के तहत आरोपी को तब तक निर्दोष माना जायेगा जब तक कि उचित विचारण के पश्‍चात दोष सिद्ध नही हो जाता।

********