सीबीआई ने 27 लाख रू. की कथित घूसखोरी में एन.एच.ए.आई. के महाप्रबन्‍धक एवं तीन निजी व्‍यक्तियों को गिरफ्तार किया

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 22.04.2019

सीबीआई ने 27 लाख रू. की कथित घूसखोरी में भारतीय राष्‍ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण लिमिटेड (एन.एच.ए.आई.), मदुरै के महाप्रबन्‍धक (तकनीकी); उनके रिश्‍तेदार (एक निजी व्‍यक्ति) तथा हैदराबाद की एक निजी फर्म के सहायक प्रबन्‍धक और उनके कार्मिक (एक निजी व्‍यक्ति) को गिरफ्तार किया।

सीबीआई ने घूसखोरी के आरोप पर भ्रष्‍टाचार निवारण (संशोधित) अधिनियम, 2018 की धारा 7 एवं धारा 8 और भारतीय दण्‍ड संहिता की धारा 120-बी के तहत भारतीय राष्‍ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण लिमिटेड (एन.एच.ए.आई.), मदुरै के महाप्रबन्‍धक (हैदराबाद निवासी); हैदराबाद की एक निजी फर्म के सहायक प्रबन्‍धक और उनके कार्मिक (एक निजी व्‍यक्ति); एक अन्‍य निजी व्‍यक्ति तथा अन्‍य अज्ञातों के विरूद्ध मामला दर्ज किया। ऐसा भी आरोप था कि भारतीय राष्‍ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण लिमिटेड (एन.एच.ए.आई.) के महाप्रबन्‍धक (तकनीकी) ने तमिलनाडु एन.एच. 7 पर में मदुरै-कन्‍याकुमारी विस्‍तार के जारी कार्य से सम्‍बन्धित उक्‍त निजी फर्म के बिलों को पास करने के लिए हैदराबाद में 27 लाख रू. की रिश्‍वत की मॉंग की। ऐसा आगे आरोप है कि लोक सेवक के निर्देश पर, 27 लाख रू. की रिश्‍वत राशि उक्‍त निजी फर्म के कार्मिक के द्वारा दी जाएगी तथा जिसे वह दिनांक 21.04.2019 को कडप्‍पा में लोक सेवक के एक रिश्‍तेदार को पहुँचाएगा। सीबीआई ने आरोपियों का पीछा किया और रिश्‍वत राशि के लेन-देन के दौरान दोनो को पकड़ लिया। प्रारम्भिक जॉंच पड़ताल के पश्‍चात, एन.एच.ए.आई. के महाप्रबन्‍धक (तकनीकी) तथा उक्‍त निजी फर्म के सहायक प्रबन्‍धक सहित सभी चार आरोपियों को गिरफ्तार किया। हैदराबाद, कडप्‍पा एवं मदुरै स्थित आरोपियों के कार्यालीय एवं आवासीय परिसरों सहित 06 स्‍थानों पर तलाशी ली गई।

गिरफ्तार आरोपियों को सीबीआई मामलों के विशेष न्‍यायाधीश, हैदराबाद के समक्ष आज पेश किया जाएगा।

********