घूसखोरी के मामले में भारतीय राष्‍ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के तत्‍कालीन परियोजना निदेशक को तीन वर्ष की कारावास

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 08.02.2019

सीबीआई मामलों की विशेष अदालत-।।, एर्नाकुलम् (केरल) ने घूसखोरी के मामले में भारतीय राष्‍ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण, पालक्‍कड़ के तत्‍कालीन परियोजना निदेशक श्री बिटला वेनुगोपाल को 05 लाख रू. जुर्माने सहित तीन वर्ष की साधारण कारावास की सजा सुनाई।

सीबीआई ने एक मामला दर्ज किया जिसमें आरोप है कि भारतीय राष्‍ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के परियोजना क्रियान्‍वयन ईकाई, पालक्‍कड के परियोजना निदेशक के तौर पर कार्य करने के दौरान आरोपी ने त्रिसूर (केरल) स्थित राष्‍ट्रीय राजमार्ग से सटे परिक्षेत्र पर भवन निर्माण हेतु अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी करने के लिए शिकायतकर्ता से 90,000 रू. की रिश्‍वत की मॉंग की। सीबीआई ने जाल बिछाया एवं आरोपी को उसके कार्यालय में शिकायतकर्ता से रिश्‍वत स्‍वीकार करने के दौरान 08.06.2008 को रंगे हाथ पकड़ा।

जॉंच के पश्‍चात, नामित अदालत में एक आरोप पत्र दायर हुआ।

विचारण अदालत ने आरोपी को कसूरवार पाया व उन्‍हें दोषी ठहराया।

********