एक लाख रू. की रिश्‍वत स्‍वीकार करने पर तत्‍कालीन सहाय निदेशक आयकर विभाग एवं एक निजि व्‍यक्ति को पॉंच वर्ष की कठोर कारावास

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 08.02.2019

सीबीआई मामलों के विशेष न्‍यायाधीश, धनबाद (झारखण्‍ड) ने घूसखोरी के मामले में तत्‍कालीन सहायक निदेशक (जॉंच), आयकर विभाग धनबाद श्री स्‍वर्ण सिंह को एक लाख रू. जुर्माने सहित 05 वर्ष की कठोर कारावास एवं एक निजि व्‍यक्ति श्री मृत्‍युन्‍जय कुमार चौरसिया को 50,000 रू. जुर्माने सहित 05 वर्ष की कठोर कारावास की सजा सुनाई।

सीबीआई ने भारतीय दण्‍ड संहिता की धारा 120-बी के पठित भ्रष्‍टाचार निवारण अधिनियम,1988 की धारा 7, 8, एवं 10 के तहत सहायक निदेशक (जॉंच), आयकर विभाग धनबाद श्री स्‍वर्ण सिंह एवं श्री मृत्‍युन्‍जय कुमार चौरसिया उर्फ टिंकू चौरसिया (निजि व्‍यक्ति) के विरूद्ध दिनांक 21.01.2004 को मामला दर्ज हुआ जिसमें पक्षपातपूर्ण अनुकूल मूल्‍यांकन रिपोर्ट को तैयार करने, सीज बैंक खातों को अवमुक्‍त करने तथा शिकायतकर्ता एवं उनके रिश्‍तेदारों के व्‍यापारिक प्रतिष्‍ठानों, आवासों पर आयकर द्वारा मारे गए छापे के मामले में आगे की जॉंच-पड़ताल न करने के लिए उनसे 15,00,000 रू. की अवैध रिश्‍वत की मॉंग का आरोप है। सीबीआई ने जाल बिछाया एवं श्री स्‍वर्ण सिंह व श्री मृत्‍युन्‍जय कुमार चौरसिया को 15,00,000/ रू. की कुल रिश्‍वत राशि में से पहली किश्‍त के तौर पर 1,00,000 रू. की रिश्‍वत की मॉंग व स्‍वीकार करने के दौरान रंगे हाथ पकड़ा।

जॉंच के पश्‍चात, उक्‍त आरो‍पी व्‍यक्तियों के विरूद्ध भारतीय दण्‍ड संहिता की धारा 120-बी एवं भ्रष्‍टाचार निवारण अधिनियम,1988 की धारा 7 व 13(2) के साथ पठित धारा 13(1) (डी) के तहत दिनांक 21.03.2005 को आरोप पत्र दायर हुआ। विचारण अदालत ने आरोपी को कसूरवार पाया व उन्‍हे दोषी ठहराया।

********