सीबीआई ने 1.5 लाख रू. के रिश्‍वत मामले में पेसों के विस्‍फोटक नियंत्रक एवं एक निजी व्‍यक्ति को गिरफ्तार किया

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 23.01.2019

सीबीआई ने 1.5 लाख रू. के रिश्‍वत मामले में पेसो, वड़ोदरा (गुजरात) के विस्‍फोटक नियंत्रक एवं एक मध्‍यस्‍थ व्‍यक्ति को आज गिरफ्तार किया।

भारतीय दण्‍ड संहिता की धारा 120-बी के साथ पठित भ्रष्‍टाचार निवारण अधिनियम,1988 की धारा 7, 7-ए एवं 8 के तहत पेसो, वड़ोदरा के विस्‍फोटक नियंत्रक ; एक मध्‍यस्‍थ व्‍यक्ति एवं अज्ञात व्‍यक्तियों के विरूद्ध 23.01.2019 को मामला दर्ज हुआ जिसमें राजकोट एवं मोरबी के तीन सी.एन.जी. टेस्टिंग स्‍टेशन का पक्षपात पूर्ण निरीक्षण हेतु अवैध रिश्‍वत की मॉंग करने व भुगतान हेतु तैयार होने का आरोप है। ऐसा आगे आरोप था कि कई सक्रिय वाहक जो कि पेट्रोलियम एण्‍ड एक्‍सप्‍लोसिव सेफ्टी आर्गनाईजेशन (पेसो), वड़ोदरा सब सर्किल कार्यालय, वड़ोदरा के कर्मियों के साथ सम्‍पर्क में थे एवं सम्‍पूर्ण गुजरात में विभिन्‍न लाइसेन्‍स पार्टियों के लिए सी..एन.जी. टेस्टिंग स्‍टेशन, एल.पी.जी-सी.एन. जी गोदामों, पटाखा के गोदामों तथा अन्‍य आधिकारिक कार्यो के लाइसेन्‍स एवं निरीक्षण के कार्य प्राप्‍त कर लेते थे। ऐसा भी आरोप था कि पेसो, वड़ोदरा के एक अधिकारी ने हाल ही में राजकोट और मोरबी की तीन साइटों का निरीक्षण किया और इसके पश्‍चात, पेसो के विस्‍फोटक नियंत्रक ने तीन साइटों के पक्षपातपूर्ण निरीक्षण के लिए मध्‍यस्‍थ व्‍यक्ति एवं अन्‍य पार्टियों, जिनका निरीक्षण से सम्‍बन्धित कार्य उनके पास लम्बित था, से अपने लिए रिश्‍वत राशि देने का निर्देश दिया। उन्‍होने कथित रूप से प्रत्‍येक निरीक्षण के लिए 50,000 रू. की अवैध रिश्‍वत की मॉंग की।

सीबीआई ने जाल बिछाया एवं दोनो आरोपियों को 1.5 लाख रू. की कथित रिश्‍वत के लेन-देन पर पकड़ा। लोक सेवक के कार्यालय एवं आवासीय परिसरों में तलाशी ली गई जिसमें 11.5 लाख रू. (लगभग) का नकद, आभूषण एवं आपत्तिजनक दस्‍तावेज बरामद हुए।

गिरफ्तार आरोपियों को अहमदाबाद की नामित अदालत में पेश किया जाएगा।

********