सीबीआई ने बलात्‍कार से सम्‍बन्धित आरोपो पर एक विधायक व निजी व्‍यक्ति के विरूद्ध आरोप पत्र दायर किया

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 11.07.2018

  सीबीआई ने भारतीय दण्ड संहिता की धारा 120-बी के साथ पठित धारा 363, 366, 376(i), 506 तथा पोक्‍सो अधिनियम की धारा 3 व 4 तथा उनके प्रमुख अपराधों के तहत एक विधायक एवं माखी, जिला उन्‍नाव (उत्‍तर प्रदेश) निवासी एक निजी व्‍यक्ति के विरूद्ध सक्षम न्‍यायालय के समक्ष आज आरोप पत्र दायर किया।

सीबीआई ने उत्‍तर प्रदेश सरकार व इसके अतिरिक्‍त भारत सरकार के निवेदन पर 12 अप्रैल 2018 को मामला दर्ज किया एवं अभियोजिका की माता के द्वारा दायर शिकायत जिसमें आरोप है कि उसकी नाबालिग पुत्री की माखी, जिला उन्‍नाव निवासिनी एक महिला (निजी व्‍यक्ति) के द्वारा विधायक के आवास पर ले जाया गया तथा इसके पश्‍चात, उसका बलात्‍कार उस निवास पर कर दिया गया।

वर्तमान मामले में कर्मियों सहित अन्‍यों की भूमिका की जॉंच के लिए आपराधिक दण्‍ड संहिता की धारा 173(8) के तहत आगे की जॉंच जारी है।

जनमानस को याद रहे कि उपरोक्‍त विवरण सीबीआई द्धारा की गयी जॉंच व इसके द्धारा एकत्र किये गये तथ्‍यों पर आधारित है। भारतीय कानून के तहत आरोपी को तब तक निर्दोष माना जायेगा जब तक कि उचित विचारण के पश्‍चात दोष सिद्ध नही हो जाता।

********