सीबीआई ने पंजाब नेशनल बैंक को हुई 4886.72 करोड़ रू. (लगभग) की कथित हानि पर मुम्‍बई स्थित प्राइवेट कम्‍पनियों के प्रबन्‍ध निदेशक एवं तत्‍कालीन बैंक कर्मियों सहित अन्‍यों के विरूद्ध मामला दर्ज किया

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 16.02.2018

सीबीआई ने दिनांक 15.02.2018 को भारतीय दण्ड संहिता की धारा  120-बी के साथ पठित धारा 420 और भ्रष्‍टाचार निवारण अधिनियम की धारा 13(2)  के साथ पठित धारा 13(1)(डी) के तहत दिनांक 13.02.2018 को पंजाब नेशनल बैंक से प्राप्‍त शिकायत के आधार पर बाल्‍केश्‍वर, मुम्‍बई स्थित प्राइवेट कम्‍पनियों के प्रबन्‍ध निदेशक ; मुम्‍बई स्थित तीन प्राइवेट कम्‍पनियों ; मुम्‍बई, पूणे, कोयम्‍बटूर (तमिलनाडु) सहित विभिन्‍न स्‍थानों पर स्थित तीन प्राइवेट कम्‍पनियों के 10 निदेशकों ; पंजाब नेशनल बैंक के तत्‍कालीन उप-प्रबन्‍धक (वर्तमान में सेवानिवृत्‍त) ; अन्‍य कर्मी एवं अज्ञात लोकसेवकों तथा अन्‍यों के विरूद्ध मामला दर्ज किया।

पंजाब नेशनल बैंक द्वारा दी गई शिकायत में यह आरोप है कि मुम्‍बई स्थित तीन प्राइवेट कम्‍पनियों एवं उनके प्रोत्‍साहक/ निदेशक ने पंजाब नेशनल बैंक के तत्‍कालीन उप-प्रबन्‍धक एवं अन्‍य कर्मी के साथ मिलीभगत में बैंक को को 4886.72 करोड़ रू. (लगभग) की हानि पहुँचाई। आरोपी कर्मियों ने प्राइवेट व्‍यक्तियों के साथ षड़यंत्र में भारतीय बैंकों की विदेशी शाखाओं को अनाधिकृत आशय पत्र (एल.ओ.यू) तथा विदेशी शाख पत्र भेजे, जिसके आधार पर बैंक की विदेशी शाखाओं ने उक्‍त कम्‍पनियों के आपूर्तिकर्ताओं को धन जारी किया या उक्‍त कम्‍पनियों के विरूद्ध बकाया देनदारियों को दोषमुक्‍त कर दिया।

उक्‍त प्राइवेट कम्‍पनियों एवं उनके निदेशकों ; कारखानों/ प्‍लान्‍टो आदि सहित मुम्‍बई, पूणे, सूरत, जयपुर, हैदराबाद, कोयम्‍बटूर के साथ 05 राज्‍यों में स्थित 26 स्‍थानों पर मौजूद कार्यालय एवं आवासीय परिसरों पर तलाशी ली गई जिसमें आपत्तिजनक दस्‍तावेज एवं अन्‍य सामान बरामद हुए।

आगे की जॉंच जारी है।

********