सीबीआई ने प्राइवेट कम्‍पनियों एवं अन्‍यों सहित छ: आरोपियों के विरूद्ध मामला दर्ज किया तथा 11 स्‍थानों पर तलाशी ली

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 17.11.2017

सीबीआई ने गृह मंत्रालय से प्राप्‍त शिकायत के आधार पर भारतीय दण्‍ड संहिता की धारा 120-बी, 199, 468, 471 एवं 511 के साथ पठित धारा 417 और एफ.सी.आर.ए. अधिनियम, 2010 की धारा 33, 35, 37 के तहत नई दिल्‍ली स्थित प्राइवेट फर्म/ एन.जी.ओ. व इसके तत्‍कालीन पदाधिकारी ; दिल्‍ली स्थित प्राइवेट कम्‍पनी, इसके तत्‍कालीन प्रबन्‍ध निदेशक और प्रतिनिधित्‍वकर्ता ; दिल्‍ली स्थित प्राइवेट परामर्शदाता फर्म एवं अन्‍य अज्ञात व्‍यक्तियों के विरूद्ध एफ.सी.आर.ए. 2010 के उल्‍लंघन, आपराधिक षड़यंत्र, जालसाजी, प्राधिकारी के समक्ष गलत बयान देने, जाली दस्‍तावेजों के प्रयोग, धोखाधड़ी के प्रयास का मामला दर्ज किया। शिकायत में विदेशी अंशदान, जिसे भारत में शैक्षिक एवं सामाजिक गतिविधियों को संचालित करने के उद्देश्‍य से कार्पोरेट सोशल रिस्‍पान्सिबिलिटी स्‍कीम के तहत प्राप्‍त किया गया था, के दुरूपयोग का आरोप है। कथित रूप से 90.72 करोड़ रू. (लगभग) की धनराशि मुख्‍यत: विदेश में स्थित कम्‍पनी से शैक्षिक क्षेत्र में सामाजिक कल्‍याण की गतिविधियों को संचालित करने के उद्देश्‍य से विदेशी योगदान (विनियमन) अधिनियम, 2010 के तहत पंजीकृत नई दिल्‍ली स्थित प्राइवेट फर्म/ एन.जी.ओ. के बैंक खाते में प्राप्‍त हुई। शिकायत में ऐसा आगे आरोप था कि उक्‍त नई दिल्‍ली स्थित प्राइवेट फर्म/ एन.जी.ओ. ने विदेशी अंशदान (विनियमन) अधिनियम, 2010 के विभिन्‍न प्रावधानों का उल्‍लंघन किया है।

आरोपियों एवं अन्‍यों के 11 परिसरों में आज तलाशी की गई। जिसमें बडे पैमाने पर आपत्तिजनक दस्‍तावेज बरामद हुए।

आगे की जॉंच जारी है।

 

********