सीबीआई ने उच्‍च मूल्‍य वर्ग की मुद्रा नोटों के विमुद्रीकरण के सम्‍बन्‍ध में 77 मामले एवं 07 प्राथमिक जॉंच पड़ताल दर्ज की इन मामलों में 307 व्‍यक्ति (180 से अधिक लोक सेवक एवं प्राइवेट व्‍यक्तियों सहित) शामिल हैं, अब तक 47 गिफ्तार हुए हैं

प्रेस विज्ञप्ति
नई दिल्ली, 08.11.2017

सीबीआई ने बैंकों, डाक खानों, रेलवे, बीमा कम्‍पनियों आदि सहित विभिन्‍न विभागों/ संस्‍थानों में विमुद्रीकृत नोटों को बदलने के सम्‍बन्‍ध में विमुद्रीकरण के बाद की अवधि के दौरान 77 मामलें एवं 07 प्राथमिक जॉंच पड़ताल दर्ज किया है। इन मामलों में 395.19 रू. (लगभग) की राशि शामिल है। सीबीआई ने जनमानस एवं अन्‍य संस्‍थाओं से प्राप्‍त 500 से भी अधिक सुरागों पर कार्यवाही की। सीबीआई ने बैंकों एवं अन्‍य स्‍थानों पर संयुक्‍त रूप से औचक निरीक्षण भी किया है।

जॉंच के दौरान, सीबीआई ने इन मामलों में अब तक संलिप्‍त पाये गए 307 आरोपियों (लोकसेवकों एवं प्राइवेट व्‍यक्तियों सहित) में से 21 लोकसेवकों एवं 26 प्राइवेट व्‍यक्तियों को गिरफ्तार किया है। अब तक, करोड़ों रू. मूल्‍य के विमुद्रीकृत एवं नई मुद्रा के नोटों व भारी संख्‍या में आपत्तिजनक दस्‍तावेज बरामद किया जा चुका है। 12 मामलों में आरोप पत्र दायर किया गया है एवं कुछ मामलों में नियमित विभागीय कार्यवाही की संस्‍तुति भी की जा चुकी है।

कुछ लोक सेवकों और प्राइवेट व्‍यक्तियों के साथ मिलीभगत में अनैतिक व्‍यक्तियों के द्वारा उच्‍च मूल्‍य वर्ग की विमुद्रीकृत नोटों को या तो अवैध रूप से बदलने अथवा जमा करने की भ्रष्‍ट गतिविधियों की जॉंच में देश भर में स्थित सीबीआई की सभी शाखाएं तत्‍परता से शामिल रही है।

शेष दर्ज मामलों/ प्राथमिक जॉंचों का अन्‍वेषण जारी है।

********